central-govt-has-compromised-with-the-security-of-the-nation

केंद्र ने UK की ब्लैक लिस्टेड कंपनी से छपवाए नोट : आप

0Shares

आम आदमी पार्टी (आप) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए केंद्र की भाजपा की सरकार पर एक बार फिर UK की ब्लैक लिस्टेड व पकिस्तान के अंदर ISI की जाली नोट छपने की फैक्ट्री को करेंसी पेपर सप्लाई करने वाली कंपनी डेलारु से नोट छपवाने का आरोप लगाया है।




पार्टी प्रवक्ता दिलीप पांडेय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि डेलारु कंपनी वही कंपनी है जिसे सीबीआई जांच के बाद सन 2010 और 2011 में भारत ने ब्लैक लिस्ट कर दिया था इन आरोपों के बिना पर के इस कम्पनी को देश को कमजोर करने वाली ताकतों का साथ देते पाया गया है। यूके के सीरियस फ्रॉड इंवेस्टीगेशन ऑफिस ने भी अपनी जांच में डेलारू कंपनी को दोषी पाया था।




पकिस्तान के अंदर ISI की जो नोट छपने की फैक्ट्री है उनको डेलारु ने जाली नोट छपने के लिए उसी क्वालिटी स्पेसिफिकेशन की करेंसी दी जिस क्वालिटी स्पेसिफिकेशन की करेंसी उन्होंने इंडिया को सप्लाई की। दिलीप पांडेय ने नोटबंदी को दुर्घटना करार देते हुए कहा कि नोटबंदी के दौरान आम आदमी पार्टी ने इसकी जानकारी सार्वजनिक की थी। मगर उस समय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट कर के डेलारु कंपनी से नोट छपवाने की बात से इंकार किया था। इस कंपनी पर मध्यप्रदेश की होशंगाबाद कोर्ट में खराब क्वालिटी का पेपर सप्लाई करने के आरोप में मुकदमा चल रहा है। जिस ख़राब क्वालिटी के पेपर सप्लाई करने के मुकदमा चल रहा है इसी पेपर से 100, 500 एवं 1000 रुपये के नोट छापे गए थे। आप नेता ने कहा कि जब इस कंपनी से कोई लेना-देना ही नहीं है तो फिर इस पर मुकदमा क्यों चल रहा है।


दिलीप पांडेय ने कहा कि इस कंपनी ने उसी क्वालिटी स्पेसिफिकेशन की करेंसी पाकिस्तान की ISI को भी सप्लाई किया जिस क्वालिटी स्पेसिफिकेशन की करेंसी उन्होंने इंडिया को सप्लाई की। ऐसे में केंद्र सरकार ने लोगों के साथ धोखा एवं देश की सुरक्षा के साथ समझौता किया है। पार्टी ने इसपर विरोध जताते हुए कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली को जनता के सामने आकर इसका जवाब देना चाहिए।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *