भाजपा की ओंछी राजनीति से दिल्ली में भाजपा का वोट शेयर घटा: AAP

भाजपा की ओंछी राजनीति से दिल्ली में भाजपा का वोट शेयर घटा: AAP

AAP के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि भाजपा की ओंछी राजनीति से दिल्ली की जनता बेहद नाराज है और इसलिए एमसीडी उपचुनाव में भाजपा का वोट शेयर घट गया है, जबकि आम आदमी पार्टी के वोट में बड़ी बढ़ोत्तरी हुई है। भाजपा दिल्ली प्रमुख आदेश गुप्ता ने पाॅश काॅलोनियों की साफ-सफाई न करा कर और रोज सीएम अरविंद केजरीवाल से पैसे मांग कर छोटी राजनीति की, इससे भाजपा का पारंपरिक वोट बैंक भी नाराज है।

उन्होंने पार्टियों को मिले वोट शेयर की जानकारी देते हुए कहा कि कल्याणपुरी वार्ड में आम आदमी पार्टी का वोट शेयर 33 प्रतिशत से बढ़कर 56 प्रतिशत हो गया है, जबकि भाजपा समेत सभी पार्टियों का वोट शेयर घट गया है। अब भाजपा को जाग जाना चाहिए, क्योंकि उसका अपने गढ़ शालीमार बाग में भी वोट शेयर 48 प्रतिशत से घट कर 36 हो गया है। शालीमार बाग की पाॅश काॅलोनियों के 16 बूथों पर भाजपा का वोट शेयर 45 प्रतिशत से घट कर 40 हो गया, जबकि ‘आप’ का वोट शेयर 35 से बढ़ कर 53 प्रतिशत हो गया। इन आंकड़ों से साफ है कि अब भाजपा का पारंपरिक वोटर कहा जाने वाला बिजनेस वर्ग भी भाजपा से खिसक कर आम आदमी पार्टी में आ रहा है।

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि त्रिलोकपुरी वार्ड 2ई, ईस्ट एमसीडी का वार्ड है। इसके अंदर आम आदमी पार्टी का वोट शेयर 35 प्रतिशत से बढ़कर 49.9 यानी लगभग 50 प्रतिशत पर पहुंच गया है। कांग्रेस इसके अंदर 16.6 प्रतिशत वोट शेयर से घटकर 1.6 यानी मात्र डेढ़ प्रतिशत पर आ गई है और अब कांग्रेस काफी सदमे में है। वहीं, कल्याणपुरी, ईस्ट एमसीडी का वार्ड है। इसमें आम आदमी पार्टी का वोट शेयर 33 प्रतिशत से बढ़कर 56 प्रतिशत पर पहुंच गया है। वहीं, भाजपा का वोट शेयर 30 प्रतिशत से घटकर 28 प्रतिशत पर आ गया है, जबकि कांग्रेस का वोट शेयर 21 प्रतिशत से घटकर 10 प्रतिशत हो गया है और बसपा का वोट शेयर 10.4 प्रतिशत से घटकर 2 प्रतिशत हो गया है। उन्होंने कहा कि लगभग सारी पार्टियों का वोट शेयर घटा है और आम आदमी पार्टी का वोट शेयर 33 प्रतिशत से बढ़कर 56 प्रतिशत पर पहुंच गया है। 

सौरभ भारद्वाज ने कहा, रोहिणी बवाना की सीट है। इसके अंदर शाहाबाद और रोहिणी का क्षेत्र आता है। यह सीट बसपा के पास थी, तो जाहिर सी बात है कि बसपा का वोट शेयर इसमें सबसे अधिक 52 प्रतिशत था। लेकिन बसपा का उपचुनाव में यहां पर वोट शेयर 52 प्रतिशत से घटकर करीब 6 प्रतिशत रह गया है, कांग्रेस का वोट शेयर वही है, पहले भी कांग्रेस का वोट शेयर 8 प्रतिशत था और अभी भी वोट शेयर 8 प्रतिशत पर ही है, जबकि आम आदमी पार्टी का वोट शेयर 13 प्रतिशत से बढ़कर के 46 प्रतिशत पहुंच गया है। 

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हमने जो चौथी सीट जीती है, वह भाजपा का गढ़ माने जाने वाली शालीमार बाग की विधानसभा है, जहां पर भाजपा के अपने पार्षद थे और उन्हीं के परिवार से टिकट दुबारा दिया गया था। खास बात यह कि वहां पर भाजपा का वोट शेयर 48 प्रतिशत से घटकर 36 प्रतिशत हो गया है। कांग्रेस का वोट शेयर 16 प्रतिशत से घटकर 12 प्रतिशत हो गया है और आम आदमी पार्टी का वोट शेयर 31 प्रतिशत से बढ़कर 50 प्रतिशत पर पहुंच गया है। यहां पर न सिर्फ कांग्रेस और बसपा का वोट शेयर घटा है, बल्कि भाजपा का भी यहां पर वोट शेयर घटा है। भाजपा यह कह रही है कि मिल कर चुनाव लड़ा है, तो भाजपा थोड़ा जागे। क्योंकि भाजपा का भी वोट शेयर घटा है।