nitish-kumar-resigns-from-bihar-cm-post

नितीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से दिया इस्तीफ़ा, प्रधानमत्री ने नितीश को बधाई दी।

0Shares

बिहार में राजनीतिक हलचल के बीच बिहार महीने भर से ज्यादा की उठक पटक के बाद आखिर बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया। बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के विवाद में आने के बाद लगातार नितीश कुमार ने RJD पर मामले पर सफाई देने के लिए दबाब बनाने की कोशिश की। मगर नतीजा मुख्यमंत्री के इस्तीफ़ा निकला। हालाँकि नितीश कुमार व उनकी पार्टी का बीजेपी से से नजदीकी के कयास लगाए जा रहे हैं। राष्ट्रपति चुनाव में भी नितीश और उनकी पार्टी के विधायकों ने अपने साथी पार्टी कांग्रेस व RJD का साथ छोड़ बीजेपी के पक्ष में वोट दिया था। मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने बताया, कि ऐसी परिस्थिति में सरकार चलने के लिए मेरा अंतर आत्मा साथ नहीं दे रही थी, इसलिए मैंने अपने अंतरात्मा की आवाज को सुनते हुए इस्तीफा देने का फैसला किया।





नितीश कुमार ने बताया इस इस्तीफे के बारे में कांग्रेस नेता राहुल गाँधी व RJD नेता लालू प्रसाद यादव को पहले से सूचना दे दिया गया है। आज जेडीयू विधायक दल की बैठक में इस्तीफ़ा देने का फैसला लिया गया। नीतीश कुमार ने आज राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी से मुलाकात कर इस्तीफा सौंप दिया है। फिलहाल विवादों में घिरे तेजस्वी यादव को मंत्री मंडल से बर्खास्त करने के कयास लगाए जा रहे थे मगर नितीश कुमार ने खुद इस्तीफ़ा देकर सभी को चौंका दिया है।





मुख्यमंत्री नितीश कुमार के इस्तीफ़ा देने के फैसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नितीश कुमार को बधाई दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, “भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत-बहुत बधाई। सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं। देश के, विशेष रूप से बिहार के उज्जवल भविष्य के लिए राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठकर भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ एक होकर लड़ना,आज देश और समय की माँग है।”





बिहार के राजनितिक गलियारे में हलचल के बाद भारतीय जनता पार्टी में भी हलचल देखने को मिल रही है। नितीश कुमार के इस्तीफे के बाद भारतीय जनता पार्टी में बैठकों का दौर तेज हो गया है। दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बैठक में मौजूदगी में बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक शुरू हो चुकी है। कयास लगाए जा रहे हैं कि, इस्तीफ़ा देने के बाद भारतीय जनता पार्टी नितीश कुमार को बाहर से समर्थन दे सकती है। फिलहाल बिहार में विधानसभा की 243 सीटें हैं, सरकार बनाने के लिए 122 सीटें चाहिए। जबकि जेडीयू की 71, आरजेडी की 80 और कांग्रेस की 27, बीजेपी की 53, आरएलएसपी और एलजेपी की 2-2 और हम की 1 सीटें हैं।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *