AAP MLA Raghav Chadha

पंजाब में सस्ती बिजली का वादा ड्रामेबाज चन्नी साहब का चुनावी स्टंट: AAP

0Shares

आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेता राघव चड्ढा ने कहा कि पंजाब में सस्ती बिजली का वादा ड्रामेबाज चन्नी साहब का चुनावी स्टंट है। बिजली की दरों में कटौती सिर्फ 31 मार्च 2022 तक के लिए की गई है। कांग्रेस के चुनावी स्टंट में पंजाब की जनता अगर फंसी तो 31 मार्च 2022 के बाद फिर से बिजली महंगी हो जाएगी। ड्रामेबाज चन्नी का यह वादा कैप्टन अमरिंदर के रोजगार के वादे जैसा है। इसमें कोई अंतर नहीं है। उन्होंने कांग्रेस पार्टी को चुनौती देते हुए कहा कि अगर यह चुनावी स्टंट नहीं है तो कांग्रेस शासित राजस्थान, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र में भी बिजली सस्ती करिए।

पंजाब में AAP सरकार बनी, तो किसानों को नहीं करने देंगे खुदकुशी: केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के पंजाब सह प्रभारी और विधायक राघव चड्ढा ने कल सोमवार को प्रेस वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कुछ घोषणाएं की हैं। ड्रामेबाज चन्नी पंजाब के लोगों को बरगलाने और उनकी आंख में धूल झोंकने का काम कर रहे हैं। कांग्रेस पार्टी ने सुबे में पूर्ण बहुमत की सरकार होने के बाद भी साढे चार साल तक सबसे निकम्मी सरकार चलायी।

राघव चड्ढा ने कहा कि उनके विधायक, मंत्री और मुख्यमंत्री अपने घरों से बाहर नहीं निकले और जनता का कोई काम नहीं किया। पंजाब के लोगों को साढ़े चार साल तक पूरे भारत में सबसे महंगी बिजली बेचकर चुनावों से कुछ महीने पहले ड्रामेबाज मुख्यमंत्री चन्नी लोगों को झूठे वादे करके उनकी आंख में धूल झोंकने का काम कर रहे हैं। 

Lakhimpur Kheri: किसानों की हत्या के विरोध में AAP ने जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया

उन्होंने कहा कि चन्नी बेहतर तरीके से इस बात को जानते हैं और कांग्रेस के आंतरिक सर्वे भी यह बता रहे हैं कि आम आदमी पार्टी बहुत तेज रफ्तार से पंजाब आगे बढ़ रही है। हर जुबान पर एक ही नाम है कि 2022 के चुनावों में अरविंद केजरीवाल की सरकार पंजाब में बनानी है। पंजाब में आम आदमी पार्टी से ‘केजरीवाल की फ्री बिजली गारंटी’ के बाद 30 लाख परिवार जुड़ गए। आम आदमी पार्टी के बिजली गारंटी देने से चरणजीत ड्रामेबाज घबरा गए। उनको लगा कि बिजली के मुद्दे पर अब कुछ झूठे वादे किए जाएं और लोगों को झूठ बोला जाए।

राघव चड्ढा ने कहा कि इस समय कांग्रेस देश के कई राज्यों में सरकार चला रही है। जहां-जहां पर कांग्रेस सरकार है वहां सबसे महंगी बिजली मिलती है। कांग्रेस शासित राजस्थान, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र में महंगी बिजली मिलती है। पंजाब में सर प्लस बिजली उत्पादन होने के बावजूद भी बहुत महंगी बिजली मिलती है।

राघव चड्ढा ने कहा कि अगर कांग्रेस के विजन में बिजली सस्ती देना होता तो सभी राज्यों में बिजली सस्ती करती। जिन राज्यों में चुनाव नहीं आ रहे हैं उनमें भी बिजली सस्ती करती। कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र मे जहां चुनाव नहीं है, वहां पर बिजली की दरों को कम नहीं किया है। इन राज्यों में बिजली खूब महंगी मिल रही है। लोगों की जेबों पर डांका डाला जा रहा है। क्योंकि पंजाब में फरवरी के महीने में चुनाव हैं तो सीएम चन्नी ने कुछ महीनों के लिए बिजली सस्ती करने का चुनावी जुमला छोड़ा है।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता राघव चड्ढा ने कहा कि चन्नी द्वारा की गई घोषणाएं सिर्फ एक चुनावी स्टंट है। बिजली की दरों में कटौती सिर्फ 31 मार्च 2022 तक के लिए की गई है। पंजाब की जनता के लिए सिर्फ 5 महीनों के लिए बिजली की दरों में कटौती की गई है। सस्ती बिजली के बहाने लोगों की आंखों में धूल डालकर उनके वोट लेने की कोशिश की है। पंजाब में 31 मार्च 2022 को चुनावी स्टंट पूरा हो जाएगा। बिजली की दरों में जो सब्सिडी देकर कटौती की जा रही है, वह समाप्त हो जाएगी। 

उन्होंने कहा कि पंजाब की जनता को आगाह करना चाहता हूं कि ड्रामेबाज चन्नी के धोखे और चुनावी स्टंट से बचना है। सीएम चन्नी आंखों में धूल झोंककर साढ़े चार साल की भ्रष्ट सरकार के दाग को मिटाने की कोशिश कर रहे हैं। पंजाब में केजरीवाल सरकार ने 300 यूनिट फ्री देने की गारंटी लोगों को दी है।

उन्होंने कहा कि ऐसे में चुनाव से तीन महीने पहले सीएम चन्नी ने लोगों की आंखों में धूल झोंकना चाहते हैं। लोगों ने कांग्रेस नामक पार्टी को बदलने का मन बना लिया है। कांग्रेस डूबता हुआ टाइटैनिक बन चुका है और आइसबर्ग से टकरा चुका है। अब उसकी मरम्मत से इस जहाज को चन्नी डूबने से नहीं बचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *